Movie prime
Neeraj Chopra Won Gold Medal: नीरज चोपड़ा ने गोल्‍ड मेडल जीत रचा इतिहास, ट्रैक ऐंड फील्ड में भारत के लिए पहला मेडल, ओलिंपिक एथलेटिक्‍स में 100 साल में पहला स्‍वर्ण
Neeraj Chopra Won Gold Medal in Tokyo Olympic 2020: नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलिंपिक-2020 में भारत की ओर से जैवलिन थ्रो में पदक के मुख्य दावेदार माने जा रहे थे और उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था और फिर उन्होंने फाइनल में गोल्ड जीत कर इतिहास रच दिया। टोक्यो ओलिंपिक-2020 ... Read more
 

Neeraj Chopra Won Gold Medal: नीरज चोपड़ा ने गोल्‍ड मेडल जीत रचा इतिहास, ट्रैक ऐंड फील्ड में भारत के लिए पहला मेडल, ओलिंपिक एथलेटिक्‍स में 100 साल में पहला स्‍वर्ण

Neeraj Chopra Won Gold Medal in Tokyo Olympic 2020: नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलिंपिक-2020 में भारत की ओर से जैवलिन थ्रो में पदक के मुख्य दावेदार माने जा रहे थे और उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था और फिर उन्होंने फाइनल में गोल्ड जीत कर इतिहास रच दिया। 

टोक्यो ओलिंपिक-2020 (Tokyo Olympics-2020) में भारत के पुरुष जैवलिन थ्रो खिलाड़ी नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने गोल्ड पदक अपने नाम कर के भारत के लिए इतिहास रच दिया है। यह भारत के लिए ट्रैक ऐंड फील्ड में पहला मेडल है वो भी Gold Medal, उन्होंने शनिवार को को हुई भाला फेंक के फाइनल मुकाबले में 87.58 मीटर का थ्रो फेंकते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया और इसी के साथ वह भारत को एथलेटिक्‍स में 100 साल में पहला ओलिंपिक स्‍वर्ण पदक दिलाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। भरता ने आज तक लगभग 100 साल में एथलेटिक्स में कोई पदक नहीं जीता था, लेकिन नीरज ने यह इंतजार खत्म कर दिया।

नीरज से पहले किसी ने भी भारत को एथलेटिक्स में पदक नहीं दिलाया था। वहीं वह ओलिंपिक में अभिनव बिंद्रा के बाद भारत के दूसरे ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने एकल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। नीरज से पहले पुरुष निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने भारत को बीजिंग ओलिंपिक-2008 में स्वर्ण पदक दिलाया था। नीरज ने अपने पहले प्रयास में 87.03 मीटर का थ्रो फेंका। नीरज ने अपने दूसरे प्रयास को बेहतर करते हुए 87.58 का थ्रो किया। नीरज का तीसरा प्रयास हालांकि अच्छा नहीं रहा और वह सिर्फ 76.79 की थ्रो ही फेंक सके। चौथे और पांचवें प्रयास में नीरज फाउल कर गए। आखिरी प्रयास में नीरज ने 84.24 का थ्रो किया। और इसी के साथ उन्होंने Gold Medal अपने नाम कर लिया।

क्वॉलिफिकेशन राउंड में भी रहे थे टॉपर

नीरज चोपड़ा ने जैवलिन थ्रो के क्वालीफिकेशन में अपने पहले ही अटेंप्ट में शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने पहले अटेंप्ट में 86.65 मीटर की दूरी का थ्रो फेंका था और फाइनल में जगह बनाई थी। 12 खिलाड़ी फाइनल में पहुंचे थे जिनमें से नीरज का नंबर पहला था और शनिवार को फाइनल में भी वह शानदार प्रदर्शन कर इतिहास रचने में सफल रहे। रजच पदक चेक गणराज्य के जैकब वाडलेज के नाम रहा जिन्होंने 86.67 मीटर की अपनी सर्वश्रेष्ठ थ्रो फेंकी। उनके देश के ही वेस्ले कांस्य जीतने में सफर रहे जिन्होंने 85.44 की बेस्ट थ्रो फेंकी।