Movie prime
PM नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को किया संबोधित, जानें भाषण की 10 अहम बातें

PM Narendra Modi Coronavirus: पीएम मोदी ने कहा, "कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशानिर्देशों का पालन, कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है और दूसरा हथियार है वैक्सिनेशन। 

 

PM Narendra Modi Coronavirus: पीएम मोदी ने कहा, "कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशानिर्देशों का पालन, कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है और दूसरा हथियार है वैक्सिनेशन। 

देश में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शनिवार की रात राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि देश को सावधान रहने की जरूरत है और सभी देशवासियों को मास्क पहनने का पालन करना चाहिए। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि 15 साल से 18 साल की आयु के बच्चों के लिए देश में वैक्सीनेशन शुरू होगा तो वहीं 60 साल से ऊपर की आयु के कॉ-मॉरबिडिटी वाले नागरिकों के लिए प्रीकॉशन डोज दिए जाने का ऐलान किया है। 

क्रिसमस के दिन राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से कोरोना के खिलाफ जंग में व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशा-निर्देशों का पालन बहुत बड़ा हथियार है. उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं आप सभी से आग्रह करूंगा कि पैनिक नहीं करें सावधान और सतर्क रहें.’ 

आइए, जानते हैं प्रधानमंत्री मोदी के आज के संबोधन की 10 बड़ी बातें…

1. भारत में भी कई लोगों के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने का पता चला है. मैं आप सभी से आग्रह करूंगा कि पैनिक नहीं करें सावधान और सतर्क रहें। मास्क और हाथों को थोड़ी-थोड़ी देर पर धुलना, इन बातों को याद रखें। 

2. कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशा-निर्देशों का पालन, कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है और दूसरा हथियार है वैक्सिनेशन। 

3. भारत ने इस साल 16 जनवरी से अपने नागरिकों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया था। ये देश के सभी नागरिकों का सामूहिक प्रयास और सामूहिक इच्छाशक्ति है कि आज भारत 141 करोड़ वैक्सीन डोज के अभूतपूर्व और बहुत मुश्किल लक्ष्य को पार कर चुका है। 

4. आज भारत की वयस्क जनसंख्या में से 61 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है. इसी तरह, वयस्क जनसंख्या में से लगभग 90 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की एक डोज लगाई जा चुकी है। 

5. हम 3 जनवरी से 15-18 आयु वर्ग के बच्चों के लिए टीकाकरण शुरू करने के लिए तैयार हैं। यह न केवल कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को मजबूत करेगा, बल्कि स्कूलों और कॉलेजों में हमारे छात्रों को स्वास्थ्य के लिहाज से भी मदद करेगा। पीएम मोदी ने कहा कि 15 साल से 18 साल की आयु के बच्चों के लिए देश में वैक्सीनेशन शुरू होगा। 2022 में 3 जनवरी को सोमवार से इसकी शुरुआत होगी। 

6. 60 साल से ऊपर की आयु के को-मॉरबिडिटी वाले नागरिकों को, डॉक्टर की सलाह पर वैक्सीन की प्रीकॉशन डोज (Precaution Dose) का विकल्प उनके लिए भी उपलब्ध होगा।  ये भी 10 जनवरी से उपलब्ध होगा। 

7. आज देश में 18 लाख आइसोलेशन बेड, 5 लाख ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड, 1.4 लाख आईसीयू बेड और बच्चों के लिए 90,000 स्पेशल बेड उपलब्ध हैं। 

8. हमारे पास 3,000 से अधिक फंक्शनल पीएसए ऑक्सीजन प्लांटस हैं और सभी राज्यों को 4 लाख सिलेंडर प्रदान किए गए हैं। 

9. हम सबका अनुभव है कि जो कॉरोना वॉरियर्स हैं, हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, इस लड़ाई में देश को सुरक्षित रखने में उनका बहुत बड़ा योगदान है. वो आज भी कोरोना के मरीजों की सेवा में अपना बहुत समय बिताते हैं। 

10. आप सभी को क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनाएं। हम 2021 के अंतिम सप्ताह में हैं। 2022 आने ही वाला है। आज दुनिया के कई देशों में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित होने का पता चला है। आप सभी से आवेदन है कि पैनिक न करें। सावधान रहें सतर्क रहें। 

यह भी पढ़े : Covid Vaccine for Child: अब 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को लगेगी कोरोना वैक्सीन, DGCI ने Covaxin को दी मंजूरी