Tuesday, April 16, 2024
Homeभक्ति पर्वमैथिली भगवती गीत दिलीप दरभंगिया: रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी

मैथिली भगवती गीत दिलीप दरभंगिया: रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी

मैथिली भगवती गीत दिलीप दरभंगिया: Rahab Rusal Katek Din Bhawani Lyrics- Dilip Darbhangiya Bhagwati Geet Lyrics: रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी

मुखरा
रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी
जीबन कोना कटतै माँ कने तकियो न -2

आन्तरा
हम जीबन अकारक बितेलौ धियान कखनो आहा पर नै देलौं -2
बीतल मांगने में -2
हमर जिंदगानी इ दुखः के कहानी
आन के सुनतै माँ कने तकियो न
रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी
जीबन कोना कटतै माँ कने तकियो न -2

आन्तरा 2
हम दोसी अधर्मी अज्ञानी एक आसा अहि पर भबानी -2
कहु ककरा ल -2
जाक हम कनि सुनु माँ इंद्राणी इ नोर के पोछ तै माँ कने तकियो न
रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी
जीबन कोना कटतै माँ कने तकियो न -2

आन्तरा 3
हम पुत्र अहि क छाी माता सबसे बैरह क छै जननी इ नाता -2
दिलीप दरभंगिया -2
भगत के नादानी करू माफ ये भबानी
दुलार के करतै माँ कने तकियो न

रहब रुसल कतेक दिन भबानी जगत कल्याणी
जीबन कोना कटतै माँ कने तकियो न -2

विपिन कुमार झा
विपिन कुमार झा
"विपिन कुमार झा, एक अनुभवी पत्रकार हैं, जिन्हें मीडिया इंडस्ट्री में करीब 4 साल का एक्सपीरिएंस है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक ऑनलाइन समाचार वेबसाइट से की थी, जहां उन्होंने खेल, टेक और लाइफस्टाइल समेत कई सेक्शन में काम किया। इन्हें टेक्नोलॉजी, खेल और लाइफस्टाइल से जुड़ी काफी न्यूज लिखना, पढ़ना काफी पसंद है। इन्होंने इन सभी सेक्शन को बड़े पैमाने पर कवर किया है और पाठकों लिए बेहद शानदर रिपोर्ट पेश की हैं।
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular