Movie prime
What’sApp व्हाट्सप्प को टक्कर देने के लिए आ गया Signal App, भारत में ऐप स्टोर पर बना टॉप डाउनलोड्स फ्री ऐप,व्हाट्सप्प को किया पीछे!
WhatsApp vs Signal App Which Messanger App is Better In Privacy and Features The Mithila Times | New Delhi: Signal App: 8 फरवरी के बाद अगर आप को व्हाट्सएप (WhatsApp) इस्तेमाल करना है तो आपको व्हाट्सएप (WhatsApp) की नई डेटा पॉलिसी ( जिसमे की यूजर्स को डेटा शेयर करने की शर्त माननी होगी। ) को ... Read more
 

WhatsApp vs Signal App Which Messanger App is Better In Privacy and Features

What’sApp व्हाट्सप्प को टक्कर देने के लिए आ गया Signal App, भारत में ऐप स्टोर पर बना टॉप डाउनलोड्स फ्री ऐप,व्हाट्सप्प को किया पीछे!

The Mithila Times | New Delhi: Signal App: 8 फरवरी के बाद अगर आप को व्हाट्सएप (WhatsApp) इस्तेमाल करना है तो आपको व्हाट्सएप (WhatsApp) की नई डेटा पॉलिसी ( जिसमे की यूजर्स को डेटा शेयर करने की शर्त माननी होगी। ) को मानना होगा। व्हाट्सएप (WhatsApp) की इस नई डेटा पॉलिसी से यूजर्स काफ़ी निराश हैं और वो दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे की Signal App और Telegram जैसे मैसेजिंग एप्स की और बढ़ रहे हैं। 

Signal App, Open Signal App, Signal App for Desktop, Signal App Reviews, WhatsApp vs Signal App Which is Best.

जब से टेस्ला के सीईओ और दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्‍क ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर लोगों को Signal सिग्नल एप इस्तेमाल करने की सलाह दी हैं। जिसके कारण Signal app सिग्नल एप को एप्पल और गूगल प्ले स्टोर पर पिछले दो दिनों में लगभग 1 लाख से ज्यादा डाउनलोड्स किया जा चूका हैं। Signal app अब टॉप डाउनलोडेड एप्स के रेस में व्हाट्सएप को पीछे छोर कर पहले पायदान पर पहुंच गया है।

अब हम सब के मन में ये सवाल उठता है कि क्या Signal app एक भरोसे लायक मंद एप है और क्या इसे व्हाट्सएप के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता हैं की ?

तो आइये जानते है Signal app के कुछ खास फीचर्स क्या- क्या हैं :

क्या व्हाट्सएप से बेहतर है सिग्नल एप?

Signal App Review 

माना जाता है की Signal app दुनिया की सबसे सिक्योर एप में से एक क्योकि इसमें यूजर का डेटा शेयर होने का खतरा नहीं है।

अभी तक तो Signal app यूजर्स से उनके पर्सनल डेटा को नहीं मांगता, जिस प्रकार से व्हाट्सएप यूजर्स से उनके पर्सनल डेटा मांगता है। 

Signal app में यूजर्स के चैट बैकअप को क्लाउड (ऑनलाइन स्टोरेज) पर स्टोर नहीं किया जाता बल्कि डेटा यूजर्स के फोन स्टोरेज में ही सेव रहता है।

Signal app में Data Linked to You का फीचर भी उपलब्ध है, जिसके कारण कोई भी चैट मैसेजेस का स्क्रीनशॉट नहीं ले सकता और साथ ही इसमें पुराने मैसेसेज अपने आप ही डिलीट हो जाते है।

Signal app में व्हाट्सएप की तरह ग्रुप बनाकर कोई भी आपको किसी ग्रुप में नहीं ऐड कर सकता। इसके लिए पहले यूज़र्स को इनवाइट लिंक भेजना होगा।

Signal app में Relay Calls का फीचर भी है। जिसमे की आपका कॉल Signal सर्वर से जाता है, जिससे सामने वाले को आपका IP एड्रेस का पता नहीं चलता। 

इस अप्प में secruity के तौर पर PIN सेट करने का ऑप्शन हैं, जिसकी मदद से आप अपने अप्प में पिन सेट कर सकते है ताकि कोई भी आपके अकाउंट को इस्तेमाल न कर पाए। 

क्या है सिग्नल एप? What is Signal App?

Signal app व्हाट्सप्प की तरह एक सोशल मैसेजिंग एप है, जो आईफोन, आईपैड, एंड्रॉइड, विंडोज, मैक और लिनक्स जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है।  अन्य मैसेजिंग एप्स की तरह इसमें भी आप मैसेज, फोटो, वीडियो या लिंक्स एक दूसरे को भेज सकते हैं, और ऑडियो या वीडियो कॉल्स भी कर सकते हैं। कंपनी ने हाल ही में एक ग्रुप वीडियो कॉलिंग फीचर निकला है जिसकी मदद से आप एक साथ 150 लोगों के साथ वीडियो कॉलिंग कर सकते हैं। 

Signal App for Desktop 

  • On a desktop open chrome Google then type Signal App For window.
  • Now download Signal App on the desktop.
  • Open Signal App on desktop.
  • Wait for a QR code to show on your desktop screen.
  • Open Signal on your mobile device & go to Settings → Linked Devices.
  • Then add a new device by tapping the add button (+)
  • Give access to your mobile device’s camera. It’s for first-time use.
  • Scan the QR code from your desktop screen.
  • Now Enter a device name & start using Signal App on the desktop screen.

 

सिग्नल एप का इतिहास? Signal App

Signal app को  Signal Foundation and Signal Messenger ने डेवलप किया है, जो की एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी है। Signal ऐप को अमेरिकी मूल के  क्रिप्टोग्राफर और वर्तमान समय में सिग्नल मैसेंजर के सीईओ मोक्सी मार्लिंस्पाइक ने बनाया था। सिग्नल फाउंडेशन को व्हाट्सएप के को-फाउंडर ब्रायन एक्टन और मार्लिंसपाइक ने मिलकर स्थापित किया था। एक्टन ने 2017 में व्हाट्सएप से इस्तीफा दिया था और इसके बाद सिग्नल में लगभग 50 मिलियन डॉलर का निवेश किया था।