Movie prime
Bihar Panchayat Chunav 2021 : इस बार बिहार के 300 से अधिक मुखिया नहीं लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव
बिहार सरकार की कैबिनेट मीटिंग में बिहार राज्य में 111 नगर निकायों के गठन पर मुहर लग गयी है। इस योजना के कारण बिहार में त्रिस्तरीय पंचायतों का भूगोल बदल जाएगा और दस हजार से अधिक जनप्रतिनिधियों की उपस्तिथि समाप्त हो जाएगी और लगभग 300 से अधिक मुखिया पंचायत चुनाव 2021 में नहीं लड़ पाएंगे। ... Read more
 

बिहार सरकार की कैबिनेट मीटिंग में बिहार राज्य में 111 नगर निकायों के गठन पर मुहर लग गयी है। इस योजना के कारण बिहार में त्रिस्तरीय पंचायतों का भूगोल बदल जाएगा और दस हजार से अधिक जनप्रतिनिधियों की उपस्तिथि समाप्त हो जाएगी और लगभग 300 से अधिक मुखिया पंचायत चुनाव 2021 में नहीं लड़ पाएंगे।

Bihar Panchayat Chunav 2021 : इस बार बिहार के 300 से अधिक मुखिया नहीं लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव

The Mithila Times, New Delhi: बिहार में NDA और बीजेपी गठबंधन की सरकार द्वारा बिहार राज्य में नए नगर निकायों के गठन (New urban bodies in Bihar) की मंजूरी देने के कारण अब लगभग 300 से ज्यादा मुखिया ग्राम पंचायत चुनाव 2021 (2021 Panchayat election in Bihar) में भाग नहीं ले सकते। 
बड़े बदलाव कि तैयारी (New changes in Bihar Panchayat Election 2021)

बिहार सरकार की कैबिनेट मीटिंग में बिहार राज्य में 103 नगर निकाय और 5 म्युनिसिपल कारपोरेशन के गठन पर मुहर लग गयी है। इस योजना के कारण बिहार में त्रिस्तरीय पंचायतों का भूगोल बदल जाएगा और दस हजार से अधिक जनप्रतिनिधियों की उपस्तिथि समाप्त हो जाएगी और लगभग 300 से अधिक मुखिया पंचायत चुनाव 2021 में नहीं लड़ पाएंगे। इस बार के चुनाव में बिहार प्रदेश सरकार बिहार में ईवीएम के माध्यम से पंचायत चुनाव 2021 कराने पर विचार कर रही है। बिहार में अगले साल 2021 में अप्रैल महीने में पंचायत चुनाव होने हैं।

बताया जा रहा है की बिहार सरकार ने 2021 में होने वाले पंचायत चुनाव 2021 (Bihar Panchayat Election 2021) से पहले 103 नये नगर पंचायतों (Nagar Panchayat) के गठन को मंजूरी दे दी है। साथ ही साथ दो सौ से अधिक ग्राम पंचायत (Gram Panchayat) को नगर पंचायत क्षेत्र में बदला जायेगा। इसके साथ ही 8 नए नगर परिषद (Municipality) का भी गठन हुआ है जिसे 32 नगर पंचायतों को मिला कर बनाया गया है। इस पहल से बिहार के 60 पंचायतों को नवनिर्मित नगर परिषद क्षेत्र में चले जाएंगे। इसके आलावा 32 नगर पंचायतों को अपग्रेड किये जाने के कारण 40 से अधिक पंचायतों की उपस्थिति ख़त्म हो गयी है। इसके साथ ही, बिहार राज्य में 5 नये नगर निगम (Municipal Corporation) के अस्तित्व में आने से लगभग 40-50 पंचायतों का विलय तय है।

बिहार पंचायत चुनाव 2021 में इस बार बहुत बड़े बदलाव होने वाले है। इस बदलाव के चलते लगभग दस हजार से अधिक जनप्रतिनिधियों को इस बार बिहार पंचायत चुनाव में अपना किस्मत आजमाने का मौका नहीं मिलेगा। बिहार नगर पालिका संशोधन अधिनियम-2020 (Bihar Nagar Palika Amendment Act-2020) के कारण कई मुखिया (Mukhhiya), सरपंच (sarpanch), पंचायत समिति सदस्य (Panchayat Samiti members), वार्ड सदस्य (ward members), वार्ड पंच अपने क्षेत्र को नगर निकायों में समाहित होते देखेंगे। 300 से अधिक पंचायतों की उपस्थिति समाप्त होने के बाद भी जनप्रतिनिधि नगर निकायों के चुनावों में अपनी किस्मत आजमा सकते हैं।