Movie prime
Atal Pension Yojana: अटल पेंशन योजना के नियम में बड़ा बदलाव, अब मिलेगी ये नई सुविधा

Atal Pension Yojana New Rule: पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (पीएफआरडीए) ने आधार-आधारित ई-केवाईसी सुविधा शुरू करने की घोषणा की है।

 

Atal Pension Yojana New Rule: पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (पीएफआरडीए) ने आधार-आधारित ई-केवाईसी सुविधा शुरू करने की घोषणा की है। अगर कोई व्यक्ति अटल पेंशन योजना (एपीवाई) अकाउंट खोलना चाहता है, तो वह आधार आधारित ई-केवाईसी प्रक्रिया के साथ विवरणों को ऑनलाइन सत्यापित कर सकता है। इसके बाद उसका अटल पेंशन योजना का अकाउंट एक्टिव हो जाएगा। अब तक केवाईसी के लिए बैंक ब्रांच विजिट करना पड़ता था।  

पीएफआरडीए ने एक सर्कुलर में कहा है, "अब आउटरीच को बढ़ाने और सदस्यता की प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए, सीआरए (सेंट्रल रिकॉर्डकीपिंग एजेंसी) एक अतिरिक्त विकल्प के रूप में आधार ई-केवाईसी के माध्यम से बोर्डिंग पर डिजिटल प्रदान करेगा।" बोर्डिंग पर आधारित आधार एक्सएमएल को सब्सक्राइबर्स के लाभ के लिए पहले ही उपलब्ध कराया जा चुका है। ये प्रक्रियाएं पेपरलेस हैं।"

क्या है अटल पेंशन योजना:  अटल पेंशन योजना से 18-40 वर्ष की आयु का कोई भी भारतीय नागरिक जुड़ सकता है। इस योजना के तहत 60 वर्ष की उम्र के बाद 1000 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक की पेंशन मिलती है। पेंशन की रकम आपके योगदान पर निर्भर है। 18 साल की उम्र से निवेश शुरू करने पर हर माह सिर्फ 42 रुपए खर्च करने पड़ेंगे। 

ये भी है खासियत: ग्राहक की मृत्यु पर पति या पत्नी को आजीवन पेंशन की राशि की गारंटी दी जाती है और अंत में, दोनों ग्राहकों की मृत्यु की स्थिति में और पति / पत्नी, पेंशन की पूरी राशि नामित व्यक्ति को भुगतान कर दी जाती है।

कितने ग्राहकों की संख्या: पीएफआरडीए के आंकड़ों के अनुसार, 30 सितंबर, 2021 तक अटल पेंशन योजना के तहत ग्राहकों की कुल संख्या 32.13 प्रतिशत बढ़कर 312.94 लाख हो गई। योजना के अंशधारकों में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का हिस्सा 2.33 करोड़ से ज्यादा है।