Salaries of Government Officials in India: भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को कितनी मिलती है सैलरी (Salary)? यहां जानें हर डिटेल

You are currently viewing Salaries of Government Officials in India: भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को कितनी मिलती है सैलरी (Salary)? यहां जानें हर डिटेल

Salaries of government officials in India: क्‍या आप जानते हैं कि इस नेतृत्व में शामिल भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और उपराष्ट्रपति का सैलरी (Salary) क्या होती है और क्या सुविधाएं मिलती है। आज के इस लेख में हम जानेंगे की इन्हे कितनी सैलरी और क्या क्या सुविधा मिलती है।

भारत का राष्ट्रपति

भारत का राष्ट्रपति (President Of India) देश का मुखिया होने के साथ-साथ भारत का प्रथम नागरिक भी होता हैं। राष्ट्रपति भारतीय सशस्त्र बलों के कमांडर-इन-चीफ भी होते हैं। भारत में, राष्ट्रपति का चुनाव निर्वाचक मंडल के सदस्यों द्वारा किया जाता है। इसमें संसद के दोनों सदन, प्रदेशों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य शामिल होते हैं। भारत का राष्ट्रपति यहां के राष्ट्रपति भवन में रहते है, जो दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रपति भवन है।

Indian President Salary Per Month

Indian President Salary 2022: भारत में राष्ट्रपति को सरकार द्वारा सबसे ज्यादा सैलरी दी जाती है। वर्तमान में भारत के राष्ट्रपति की सैलरी 5 लाख रुपये प्रति माह है। इसके आलावा कुछ अन्य सरकारी भत्ते दिये जाते हैं।

आवास: नई दिल्‍ली में स्थित राष्ट्रपति भवन भारत के राष्ट्रपति का आधिकारिक निवास है। यह 2,00,000 वर्ग फुट में बना हुआ है और इसमें 340 कमरे हैं। यहां पर करीब 200 लोग काम करते हैं। आपको पता होना चाहिए कि राष्ट्रपति के निवास, स्टाफ, मेहमानों और भोजन आदि पर सालाना करीब 22.5 मिलियन खर्च होता है।

आजीवन सुविधाएं: भारत के राष्ट्रपति को फ्री इलाज और आवास की सुविधा मिलती हैं।

सुरक्षा: भारत के राष्ट्रपति कस्टम-बिल्ट ब्लैक मर्सिडीज बेंज S600 (W221) पुलमैन गार्ड के हकदार हैं। राष्ट्रपति के पास आधिकारिक यात्राओं के लिए हथियारों से लैस लंबी गाड़ी लिमोजिन भी साथ होती है। साथ ही राष्ट्रपति के कारवां में 25 गाड़ियां होती हैं। राष्ट्रपति के पास 86 प्रेसीडेंशियल बॉडीगार्ड होते हैं।

रिटायरमेंट के बाद की सुविधाएं

– राष्ट्रपति को रिटायरमेंट के बाद पेंशन के रूप में 1.5 लाख प्रतिमाह मिलता है। साथ ही स्टाफ पर खर्च करने के लिए 60 हजार रुपये महीना अलग से दिया जाता है।

– जीवन भर के लिए एक मुक्त बंगला (टाइप VIII) मिलता है।

– दो मुफ्त लैंडलाइन और एक मोबाइल फोन।

– ट्रेन या हवाई मार्ग से एक साथी के साथ मुफ्त यात्रा व जीवन भर के लिए मुफ्त वाहन सुविधा।

– दिल्ली पुलिस की सिक्योरिटी और 2 सेक्रेटरी।

salary

Indian President Salary Year by Year

राष्ट्रपति की सैलरी में वर्ष 2017 में सैलरी बढ़ाने का फैसला किया गया था। वर्ष 2017 से अभी तक देश के प्रेसिडेंट को 5 लाख रुपये प्रति माह सैलरी दी जाती है। आइये जानते है देश में राष्ट्रपति की सैलरी पहले कितनी थी और अब कितनी है।

Year Salary (Per Month) Allowance
1951 INR 10,000.00/- INR 15,000.00/-
1985 INR 15,000.00/- INR 30,000.00/-
1989 INR 20,000.00/- 10,000.00/-
1998 INR 50,000.00/- +Other Allowance
2008 INR 1,50,000.00/- +Other Allowance
2017 INR 5,00,000.00/- +Other Allowance

क्या भारत के राष्ट्रपति देते हैं इनकम टैक्स?

भारत के राष्ट्रपति के पद पर आसीन व्यक्ति को सेवाकाल और उसके बाद के लिए वेतन, पेंशन, व अन्य सुविधाओं का प्रावधान द प्रेसिडेंट्स (इमॉल्यूमेंट्स) एंड पेंशन एक्ट 1951 (The President’s Emoluments and Pension Act 1951) में किया गया है। राष्ट्रपति की सैलरी भारत की समेकित निधि (Consolidated Fund of India) से दी जाती है।

भारत के सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के अनुसार, ऐसी कोई भी आय जो किसी कानून के तहत आयकर के अंतर्गत आती है, तब उस आय पर इनकम टैक्स देना होता है। राष्ट्रपति की आय इनकम टैक्स एक्ट (Income Tax Act) और प्रेसिडेंट पेंशन एक्ट के अंतर्गत आता है। इसी कारण भारत के राष्ट्रपति को भी अपनी आय पर Income Tax देना पड़ता है।

भारत का उपराष्ट्रपति (Vice President Salary)

उपराष्ट्रपति की सैलरी ‘संसद अधिकारी के सैलरी और भत्ते अधिनियम, 1953’ के तहत निर्धारित किया जाता है। आपको बता दें कि, उपराष्ट्रपति को कोई सैलरी नहीं होती है। कहने का मतलब, उपराष्ट्रपति पद के लिए सैलरी का कोई प्रावधान नहीं है। उपराष्ट्रपति ही राज्यसभा का सभापति भी होता है इसलिए सभापति के तौर पर उन्हें सैलरी व सुविधाएं दी जाती हैं।

– उपराष्ट्रपति को प्रतिमाह 4 लाख रुपये सैलरी मिलती है।

– इसके अलावा इन्हें कई तरह के भत्ते भी मिलते है।

– रहने के लिए एक अच्छा बंगला मिलता है।

– मुफ्त चिकित्सा की सुविधा भी दी जाती है।

– ट्रेन और हवाई सफर की भी फ्री सुविधा मिलती है।

– पूरी सुरक्षा और पूरा स्टाफ मिलता है।

– लैंडलाइन कनेक्शन, मोबाइल फोन की भी सुविधा मिलती है।

रिटायरमेंट के बाद की सुविधाएं

रिटायरमेंट के बाद उपराष्ट्रपति को पेंशन के रूप में 1.5 लाख रुपये महीना मिलता है। इसके अलावा इन्‍हें भी राष्ट्रपति की तरह कई सुविधाएं भी मिलती हैं।

भारत के प्रधानमंत्री की सैलरी (Prime Minister Salary)

भारत के प्रधानमंत्री को प्रतिमाह लगभग 1,60,000 रुपये की बेसिक सैलरी मिलती है। इसमें 50,000 रुपये बेसिक सैलरी है। इसके अलावा व्यय भत्ता 3000 रुपये और सांसद भत्ता 45,000 रुपये मिलता है। साथ ही 2,000 के हिसाब से रोजाना भत्ता भी मिलता है, जो महीने 61,000 रुपये होता हैं। यह सभी मिलाकर 1,60,000 लाख हो जाता है। प्रधानमंत्री को यह सैलरी वर्ष 2012 से मिल रही है।

रिटायरमेंट के बाद की सुविधाएं

प्रधानमंत्री जब रिटायर हो जाता है या अपना पद छोड़ देता है, तो उसे रहने के लिए आवास दिया जाता है। साथ ही पांच साल के लिए मुफ्त ट्रेन यात्रा, एसपीजी कवर, साथ में कार्यालय व्यय और निजी सचिव भी दिए जाते हैं। इसके अलावा कई अन्य प्रकार की सुविधाएं दी जाती हैं।

– छह घरेलू स्तर के हवाई टिकट (एग्जीक्यूटिव क्लास)।

– पूरी तरह फ्री रेल यात्रा।

– आजीवन मुफ्त आवास

– नि:शुल्क चिकित्सा सहायता

– 5 साल तक ऑफिस का पूरा खर्च।

– एक साल तक SPG सुरक्षा।

– जिंदगी भर के लिए मुफ्त बिजली और पानी।

– पांच साल के बाद: एक निजी सहायक और पिओन, वायु और ट्रेन यात्रा, कार्यालय खर्च के लिए सालाना 6,000 रुपये।