Agnipath Scheme 2022: क्या है अग्निपथ योजना, जानें अग्निवीरों के चयन, योग्यता और आवेदन प्रकिया से जुड़ी जरूरी बातें

भारत सरकार ने भारतीय सेना में सैनिकों की भर्ती के लिए एक नई योजना अग्निपथ (Agnipath Scheme 2022) का ऐलान किया है। अब भारतीय सेना में नई भर्ती इसी योजना के तहत की जाएगी। इस योजना के माध्यम से अब तीनों सेनाओं में सिर्फ चार साल के लिए नई भर्तियां की जाएगी। मतलब 4 साल के बाद 75 फीसदी सैनिकों को घर भेज दिया जाएगा।

Agnipath Scheme 2022 : भारतीय सेना में जाने का सपना सभी भारतीय का होता है। जिसके लिए वो दिन रात मेहनत करते हैं और भारतीय सेना में शामिल होते है। लेकिन लगता है की अब यह सपना कम हो जाएगा क्योकि सरकार सेना में भर्ती के लिए एक नई योजना लाया है। सरकार अब भारतीय सेनाओं में भर्ती ( Indian Army IAF Navy Recruitment 2022 ) अग्निपथ योजना के द्वारा करेगी।

जो युवा आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में जाना चाह रहे है उनके मन में इस योजना को लेकर कई सवाल हैं। अग्निपथ योजना से सेनाओं में किन पदों पर भर्ती होगी? भर्ती की योग्‍यता क्या होगी? परीक्षा, चयन प्रक्रिया, साक्षात्‍कार कैसे होंगे? ट्रेनिंग, नौकरी और वेतन-भत्‍ते व पेंशन किस तरह के होंगे? कैसे पता चलेगा कि भर्ती निकली है और कैसे आवेदन कर सकेंगे? यहां जानिए इस योजना से जुड़े सभी सवालों के जवाब –

अग्निपथ योजना क्या है?

Agnipath Agniveer Yojana in Hindi: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘अग्निपथ’ स्कीम (Agneepath Scheme) का ऐलान किया। जिसमे भारतीय सेनाओं में 4 साल के लिए सैनिकों की भर्ती की जाएगी। उन्होंने कहा कि भारतीय सेनाओं की विश्व की बेहतरीन सेना बनाने के लिए रक्षा मामलों की कैबिनेट समिति ने एक बहुत ही बड़ा फैसला लिया है। जिसके बाद हम भारतीय सेना में भर्ती के लिए अग्निपथ स्कीम (Agnipath Scheme) ला रहे हैं।

इससे भारतीय युवाओं को ‘अग्निवीर’ (Agniveer) के तौर पर सेवा का मौका दिया जाएगा। इससे देश की सुरक्षा मजबूत होगी और युवाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा। देश का हर युवा जीवन में सेना की भर्ती का सपना देखता है। इस अग्निपथ योजना से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और युवाओं को अन्य क्षेत्रों में जाने के भी अच्छे अवसर मिलेंगे।

इंडियन आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में सैनिकों की 4 साल के लिए भर्ती होगी। आर्मी में सैनिक (जवान), नेवी में नाविक और एयरफोर्स में एयरमैन की जो भर्ती है, वो भर्तियां अब इस योजना के तहत होंगी। जो सैनिक भर्ती होंगे, उन्हें अग्निवीर नाम दिया जाएगा। 4 साल के बाद 75 फीसदी सैनिकों को घर भेज दिया जाएगा। शेष 25 फीसदी अग्निवीरों को स्थायी जवान नियुक्त किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया तय की जाएगी जिसमें ‘अग्निवीर‘ स्थायी होने के लिए आवेदन देंगे।

अग्निपथ योजना से किनकी भर्ती होगी? किनके लिए है यह योजना?

Agnipath Scheme Enrollment: अग्निपथ योजना सिर्फ जवानों के लिए है। यह योजना अफसरों पर लागू नहीं होगी। सेवा अधिकारी रैंक से नीचे के कर्मियों के लिए यह योजना होगी। नई योजना मौजूदा जवानों की खुली भर्ती की जगह ही लाई गई है। अभी जनरल ड्यूटी के अलावा, क्लर्क, स्टोर कीपर, ट्रेडमैन, नर्सिंग असिस्टेंट जैसे पदों के लिए खुली भर्ती होती है। आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में वर्तमान में जवानों की जो भर्ती प्रक्रिया है, वो नहीं बदलेगी। यानी अग्निवीरों का चयन मौजूदा चयन प्रक्रिया से ही होगा। सेनाओं में अभी शॉर्ट सर्विस कमीशन के जरिए 10 साल के लिए अफसरों की नियुक्ति होती है जिसे 14 साल तक बढ़ाया जाता है। इस व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

क्या होगी योग्यता

  • आयु सीमा – 17.5 वर्ष से 21 वर्ष वालों को मौका मिलेगा।
  • आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में सैनिक स्तर की भर्ती के नियम पुराने वाले ही रहेंगे। जैसे जनरल ड्यूटी (जीडी) सैनिक की भर्ती के लिए शैक्षणिक योग्यता कक्षा 10वीं पास ही रहेगी। अलग-अलग श्रेणियों में 10वीं-12वीं पास युवाओं को मौका मिलेगा।

कब, कहां और कैसे निकलेंगी भर्तियां और कैसे कर सकेंगे आवेदन

अगले 90 दिनों में अग्निपथ योजना के तहत 46 हजार भर्तियां निकाली जाएंगी। आर्मी में 40 हजार, एयरफोर्स में 3500 और नेवी में 2500 भर्तियां होंगी। देशव्यापी भर्ती प्रक्रिया के जरिये योग्यता के आधार पर अग्निवीरों की भर्ती होगी। अभ्यर्थियों को नई भर्तियों के निकलने की जानकारी इन वेबसाइट्स से मिलेगी- joinindianarmy.nic.in, joinindiannavy.gov.in, Careerindianairforce.cdac.in । इसलिए सेनाओं में जाना चाह रहे अभ्यर्थी इन वेबसाइट्स को समय समय पर चेक करते रहें। जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

  • ऑल इंडिया ऑल क्लास बेस्ड भर्ती होगी।
  • भर्ती रैलियों के तहत भी भर्ती रहेंगी।
  • एनरोलमेंट के लिए एक ऑनलाइन सेंट्रलाइज्ड सिस्टम विकसित किया जाएगा।
  • मान्यता प्राप्त टेक्निकल इंस्टीट्यूट्स से कैंपस इंटरव्यू के लिए जरिए भी भर्तियां होंगी।

अग्निवीरों की सैलरी कितनी होगी? Agnipath Scheme Salary, Pay-Scale

हर अग्निवीर को भर्ती के पहले साल 30 हजार महीने सैलरी मिलेगी। दूसरे साल अग्निवीर की तनख्वाह बढ़कर 33 हजार, तीसरे साल 36.5 हजार तो चौथे साल 40 हजार रुपये हो जाएगी। हालांकि इनकी सैलरी में से सेवानिधि पैकेज के लिए हर बार 30-30 फीसदी कटेगा। जैसे पहले साल में 30 हजार रुपये मिलने हैं। लेकिन इसमें से 21 हजार रुपये ही उसे दिए जाएंगे। बाकी 30 फीसदी यानी 9 हजार रुपये अग्निवीर कॉर्प्स फंड में जमा होंगे। इस फंड में इतनी ही राशि (9 हजार रुपये) सरकार भी डालेगी।

Year Customized Package (Monthly) In-Hand (70%) Contribution to Agniveer Corpus Fund (30%) Contribution to corpus fund by GoI
1st Year 30000 21000 9000 9000
2nd Year 33000 23100 9900 9900
3rd Year 36500 25580 10950 10950
4th Year 40000 28000 12000 12000

4 साल बाद ड्यूटी से मुक्त किए गए अग्निवीरों को क्या सुविधाएं मिलेंगी? क्या पेंशन मिलेगी?

Agnipath Scheme में पेंशन नहीं मिलेगी। सेवा निधि पैकेज मिलेगा। इस फंड के लिए अग्निवीरों की मासिक सैलरी का 30 फीसदी काटा जाएगा। इतनी ही रकम सरकार जमा करेगी। 4 साल बाद सेना से ड्यूटी मुक्त होने वाले 75 फीसदी ऐसे अग्निवीरों को 11.71 लाख रुपये की सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा। इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसके अलावा उनको मिले कौशल प्रमाणपत्र और बैंक लोन के जरिये उन्हें दूसरी नौकरी शुरू करने में मदद की जाएगी।

4 साल की सर्विस के दौरान वीरगति को प्राप्‍त हुए तो क्या होगा?

Agnipath Scheme में सभी अग्निवीरों का 48 लाख रुपये का नॉन-प्रीमियम इंश्‍योरेंस कवर होगा। ड्यूटी के दौरान मृत्‍यु होने पर 44 लाख रुपये की अतिरिक्‍त अनुग्रह राशि मिलेगी। इसके अलावा, परिवार को सेवा निधि सहित चार सालों तक सेवा न किए गए हिस्‍से का भी भुगतान किया जाएगा।

अगर दिव्‍यांग हुए तो क्या होगा?

Agnipath Scheme में जितने प्रतिशत अक्षमता होगी, उसके आधार पर मुआवजा दिया जाएगा। 100 फीसदी अक्षमता पर 44 लाख रुपये, 75 फीसदी अक्षमता पर 25 लाख रुपये और 50 फीसदी अक्षमता पर 15 लाख रुपये दिए जाएंगे।

Leave a Comment

%d bloggers like this: