Nobel Prize 2021 in Medicine: अमेरिकी वैज्ञानिक David Julius और Ardem Patapoutian को मिला मेड‍िस‍िन का नोबेल पुरस्कार

Nobel Prize 2021 Medicine: David Julius and Ardem Patapoutian declared joint winners of nobel prize for medicine 2021.

Nobel Prize 2021: दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार में विजेता को एक स्वर्ण पदक दिया जाता है। साथ ही एक करोड़ स्वीडिश क्रोनर दिए जाते हैं, जिसका भारतीय करेंसी में मूल्य 8.50 करोड़ रुपये होता है।

Nobel Prize 2021: विश्व का सबसे प्रतिष्ठित सम्मान Nobel Prize 2021 Medicine के विजेता का नाम आज घोषित हो गया है।करोलिंस्का संस्थान (Karolinska Institute) ने वर्ष 2021 के लिए मेडिसिन के नोबेल पुरस्‍कार का ऐलान कर दिया गया है।इस बार अमेरिका के डेविड जूलियस (David Julius) और लेबनान के अर्देम पटापाउटियन (Ardem Patapoutian) को संयुक्‍त रूप से यह पुरस्‍कार दिया गया है।दोनों वैज्ञानिकों ने फिजियोलॉजी या मेडिसिन में संयुक्त रूप से नोबेल पुरस्कार 2021 (Nobel Prizes 2021) जीता है।दोनों को तापमान और स्पर्श के लिए रिसेप्टर्स की खोज करने पर यह पुरस्कार दिया गया है।

सोमवार को स्टॉकहोम (Stockholm) में करोलिंस्का संस्थान (Karolinska Institute) में एक पैनल द्वारा पुरस्कारों की घोषणा की गई. बता दें कि प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार में एक स्वर्ण पदक दिया जाता है।साथ ही एक करोड़ स्वीडिश क्रोनर दिए जाते हैं, जिसका भारतीय करेंसी में मूल्य 8.50 करोड़ रुपये होता है।पुरस्कार की राशि इसके कर्ताधर्ता रहे स्वीडिश आविष्कारक अल्फ्रेड नोबेल द्वारा छोड़ी गई वसीयत से आता है।

कौन हैं डेविड जूलियस?

डेविड जूलियस (David Julius) एक अमेरिकी वैज्ञानिक हैं।उनका जन्‍म वर्ष 1955 में अमेरिका के न्‍यूयॉर्क शहर में हुआ।वर्ष 1984 में उन्‍होंने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, बर्कले (California University Berkeley) से पीएचडी की डिग्री हासिल की है।इस समय वेयूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सैन फ्रांसिस्‍को (University of California, San Francisco) में प्रोफेसर हैं।

कौन हैं अर्देम पटापाउटियन?

अर्देम पटापाउटियन भी अमेरिका में प्रोफेसर हैं।वे मूल रूप से लेबनान के रहने वाले हैं।वर्ष 1967 में लेबनान के बेरूत में उनका जन्म हुआ था।युद्ध के कारण वहां के हालात ठीक नहीं थे तो बाद में वे बेरूत से अमेरिका के लॉस एंजिलिस शिफ्ट हो गए।वर्ष 1996 में उन्होंने कैलिफोर्निया इंस्‍टीटयूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, पेसाडेना से पीएचडी की डिग्री हासिल की।इसके बाद वर्ष 2000 से वे स्क्रिप्‍स रिसर्च, लाजोला, कैलिफोर्निया में कार्यरत हैं।

Patapoutian ने आयन की पहचान करने के लिए सुसंस्कृत यंत्रसंवेदी कोशिकाओं (cultured mechanosensitive cells) का उपयोग किया।

तंंत्रिका तंत्र पर स्‍पर्श, गर्मी और ठंड  का असर

डेविड जूलियस (David Julius) और अर्देम पटापाउटियन (Ardem Patapoutian) ने तापमान और स्पर्श के लिए रिसेप्टर्स की खोज करने पर फिजियोलॉजी या मेडिसिन (Physiology or Medicine) में नोबेल पुरस्कार 2021 जीता है।इस साल के नोबेल पुरस्कार विजेताओं की मौलिक खोजों ने समझाया है कि कैसे गर्मी, ठंड और स्पर्श हमारे तंत्रिका तंत्र में संकेतों को शुरू कर सकते हैं।पहचाने गए आयन चैनल कई शारीरिक प्रक्रियाओं और रोग स्थितियों के लिए महत्वपूर्ण हैं।

Share:

Leave a Comment