PM मोदी ने किया नए संसद का भूमि पूजन ! जाने कैसी है भारत की नई संसद भवन की बिल्डिंग !

The Mithila Times, Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने बृहस्पतिवार 10 दिसंबर 2020 को भारत के नए संसद भवन (Parliament House) का भूमि पूजन किया।

New Parliament House
A model of the new Parliament building to be constructed in the national capital, New Delhi (Courtesy: ANI)

नई दिल्ली: भारत में नए संसद भवन की पहली तस्वीर सामने आई है। संसद भवन की नई इमारत का डिजाइन त्रिभुज (Triangle) के आकार का होगा और पुराने परिसर के पास इसका निर्माण होगा। नए संसद भवन (New Parliament House) का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड को दिया गया है।   
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ( PM Narendra Modi ) ने 10 दिसंबर 2020 को नए संसद भवन का भूमि पूजन / शिलान्यास किया। नई संसद भवन बिल्डिंग में एक संविधान हॉल (Constitution Hall) कॉस्टीट्यूशन हॉल होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत की झलक और संविधान की मूल प्रति को भी दर्शाया जाएगा। इसके अलावा, संसद सदस्यों के दफ्तर, कई कमेटियों के लिए कमरे, भोजनालय एरिया और पर्याप्त पार्किंग स्पेस होगा की व्यवस्था होगी। नए संसद भवन में लोकसभा (Lok Sabha) को भूतल में बनाया जायेगा। इसमें 888 सदस्यों के बैठने की जगह होगी, वहीं राज्यसभा (Rajya Sabha) में कुल 384 सदस्य बैठ पाएंगे। लोकसभा और राज्यसभा की संयुक्त बैठकों में 1272 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी। देश की राजधानी दिल्ली में तैयार होने जा रहा नया संसद भवन 64,500 वर्ग मीटर में फैला होगा जो तत्कालीन भवन से 17000 वर्ग मीटर अधिक होगा।
सरकार की और से कहा गया है की नया संसद भवन दिसंबर 2022 तक बन कर तैयार हो जायेगा। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) द्वारा इसके निर्माण को रोक दिए जाने के कारण इसमें रुकावट भी आ सकती है।
केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने नए संसद भवन की अनुमानित लागत 940 करोड़ रुपये रखी थी। नई इमारत को बनाने का जिम्मा टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड (Tata Project Limited) को दिया गया है। यह नया भवन सेंट्रल विस्ता परियोजना प्रोजेक्ट का हिस्सा है। इसे वर्तमान संसद भवन के नजदीक बनाया जाएगा। जिसका नक्शा गुजराती वास्तुशिल्प डिजाइनर कंपनी ‘एचसीपी डिजाइन्स’ (Gujarat-based HPC Designs) ने तैयार किया है। नया भवन त्रिकोणीय आकार का होगा। मौजूदा संसद भवन का इस्तेमाल संसदीय आयोजनों के लिए किया जाएगा।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला(Om Birla) ने प्रस्तावित नया संसद भवन के बारे में विवरण पेश करते हुए कहा, ‘‘लोकतंत्र का वर्तमान मंदिर अपने 100 साल पूरे कर रहा है। यह देशवासियों के लिये गर्व का विषय होगा कि नए भवन का निर्माण हमारे अपने लोगों द्वारा किया जाएगा, जो आत्मनिर्भर भारत का एक प्रमुख उदाहरण होगा।” साथ ही उन्होंने यह भी कहा की ‘‘नए भवन के माध्यम से देश की सांस्कृतिक विविधता प्रदर्शित होगी. आशा है कि आजादी के 75 साल पूरे होने पर संसद का सत्र नए भवन में आयोजित होगा।”
Share:

Leave a Comment